top of page

श्री गुरूप्रेम-तगतोबाई जुगराजजी राठौड विहार धाम का उद्घाटन

बलसाड। परम पूज्य तपागच्छाधिपति आचार्य श्रीमद विजय प्रेमसूरीश्वरजी महाराज १०५ वें जन्म दिवस पर श्री गुरूप्रेम आजीवन चरणोपासक परम पूज्य गच्छाधिपति आचार्य श्री विजय कुलचंद्रसूरीश्वरजी (केसी) महाराज आदि श्रमणवृंद एवं परम पूज्य साध्वी श्री जिनरक्षीताश्रीजी महाराज आदि श्रमणीवृंद की पावन निश्रा में बलसाड नेशनल हाईवे पर सादडी निवासी खुबीलाल, विमलचंद जुगराजजी राठौड (फ्लेयर पेन्स) परिवार द्वारा निर्मित श्री गुरूप्रेम-तगतोबाई जुगराजजी राठौड विहार धाम का उद्घाटन भव्य रूप से संपन्न हुआ।


यह अत्याधुनिक विहार धाम ३ हजार स्क्वेअर फूट है। इससे हाईवे पर विचरण करने वाले साधु साध्वी भगवंतों को ठहरने की उत्तम व्यवस्था की गई हैं। कार्यक्रम का शुभारंभ गुरूदेव के मंगलाचरण से हुआ। आचार्य कुलचंद्र सूरीश्वरजी महाराज ने राठौड परिवार के इस सुकृत्य की सराहना करते हुए परिवार को मंगल आशिर्वाद प्रदान किया। राठौड परिवार के खुबीलाल राठौड, श्रीमती निर्मलाबेन राठौड, विमलचंद राठौड, श्रीमती मंजुलाबेन राठौड, राजेश राठौड, मोहीत राठौड, सुमित राठौड ने फीता काटकर विहार धाम का उद्घाटन किया। इस अवसर पर  जैन संघ के कई गणमान्य एवं सम्मानित लोग उपस्थित थे। ज्ञात रहे कि सादडी निवासी राठौड परिवार का मध्य प्रदेश के घसोई तीर्थ में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। २७०० वर्ष पुरानी मूलनायक चिंतामणी पाश्र्वनाथ भगवान की मूर्ति स्थापित करने व कायमी अमर ध्वजा एवं मेन गेट का निर्माण भी उन्होंने करवाया है।


खुबीलाल राठौड श्री जैन श्वेताम्बर मूर्ति पूजक तपागच्छ संघ आनंदधाम ट्रस्ट घसोई के अध्यक्ष एवं श्री पाश्र्वनाथ उम्मेद जैन शिक्षण संघ फालना के उपाध्यक्ष होने के साथ साथ मरूधर महिला शिक्षण संघ विद्यावाडी, श्री पाश्र्वनाथ जैन तीर्थ वरकाणा, शेठ धर्मचंद दायाचंद श्वेताम्बर मूर्तिपूजक जैन संघ सादडी आदि सामाजिक, धार्मिक व शैक्षणिक संस्थाओं में भी काफी सक्रिय पदाधिकारी है।




2 views0 comments

Comments


bottom of page